वशीकरण से छुटकारा मुक्ति उपाय इन हिंदी

वशीकरण से छुटकारा मुक्ति उपाय इन हिंदी
4.5 (90%) 12 votes

वशीकरण से छुटकारा मुक्ति उपाय इन हिंदी

वशीकरण से छुटकारा/मुक्ति : किसी के वश में आ जाने या वशीभूत हो जाने की स्थिति में व्यक्ति कई तरह से विचलित महसूस करता है। कुछ ऐसा लगता है जैसे उसकी आजादी पर किसी ने बंदिशें लगा दी गई हो और उसपर उसका ही नियंत्रण नहीं हो। न तो मन उसकी वश में रहता है, और न ही मस्तिष्क सुचारू ढंग से चलता हुआ एहसास होता है। वह सोचता कुछ है, लेकिन कर कुछ और बैठता है। दुविधा, उलझन या उहापोह के दौर से गुजरते हुए अविवेकी बन जाता है और फिर उल्टी-सीधी हरकतें करने लगता है या रोजमर्रे के साधारण से कार्य में भी गल्तियां होने लगती हैं।

वशीकरण से छुटकारा मुक्ति उपाय इन हिंदी

वशीकरण से छुटकारा मुक्ति उपाय इन हिंदी

कई बार तो इस वजह से मुसीबत में भी फंस जाता है। या कहें उसके महत्वपूर्ण कामकाज बाधित हो जाते हैं। ऐसा उसपर किसी द्वारा अनैतिक ढंग से प्रयोग में किए गए वशीकरण या टोटके या फिर काले जादू के उपायों की वजह से ही होता है। इन्हें दूरकर ही सहजता, स्वतंत्रता और खुले मन-मिजाज का अनुभव किया जा सकता है।  आईए जानते हैं कि किस तरह से वशीकरण से छुटकारा पाया जाए। वशीकरण के प्रभाव से मुक्ति पाने के कुछ सरल उपाय इस प्रकार हैंः-

  • वशीकरण का प्रभाव एक तरह से बनी हुई नकारात्मक ऊर्जा ही है, जिसे कम किया जा सकता है या फिर कहें कि उसे सकारात्मक ऊर्जा में रूपांतरित कर समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। सामान्य उपाय मंे अपने इष्टदेव की आराधाना करें। गायत्री मंत्र (ओम भुर्भुवः स्व तत्स वितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धी मही धीयो यो न प्रचोदयात) का प्रतिदिन प्रातः स्नान और सूर्योपासना के बाद 108 बार जाप करने का भी चमत्कारी प्रभाव देखने को मिलता है। ध्यान रहे मंत्र का उच्चारण स्पष्ट रहे। इसका पाठ मन में भी शांतिभाव से किया जा सकता है।
  • काले जादू या टोटके के प्रभाव को दूर करने के लिए काली के मंदिर में जाएं। मां काली की आराधना करें। सच्चे मन से पूजा-अर्चना करें और वशीकरण के प्रभाव से मुक्त होने की याचना के साथ अष्टगंध या कुमकुम का टीका लगाएं। यह टीका पहले मां कली की चरणों को लगायें और फिर अपनी ललाट पर लगा लें।
  • एक साधारण उपाय के तौर पर अभिमंत्रित यंत्र को कवच के रूप मंे वांह या गले में पहनें। इसका धारण किसी सिद्ध तांत्रिक की सलाह के बाद ही करें।
  • महाकाली के मंदिर में जाएं और पूजा अर्चना के क्रम में गुलाब का ताजा फूल अर्पित करें। उसके बाद 108 बार या फिर कम से कम 11 बार चामुंडा मंत्र का जाप करें। पूजा समाप्ति के बाद गुलाब की सात पंखुड़ियां वशीकरण या काले जादू के शिकार व्यक्ति को खिला दें।
  • वशीकरण के टोटके से छुटकारा पाने के लिए एक नींबू को वशीभूत व्यक्ति के ऊपर से 21 बार नजर उतारें। इसके लिए उसके सिर के ऊपर से दाहिने तरफ घड़ी की दिशा में हाथ घुमाएं। नजर उतारे हुए नींबू को चार भागों में काटकर किसी निर्जन स्थान पर फेंक दें।
  • वशीकरण से छुटकारा जन्मकुंडली के विश्लेषण और फिर बताए गए ज्योतिषीय उपायों से भी संभव है। इसके लिए ग्रहों की दिशा और दशा को अनुकूल बनाने के लिए वैदिक अनुष्ठान का सहारा लेना चाहिए। अमावस्या और पूर्णिमा के दिन मांसाहारी भोजन और शराब सेवन से बचकर रहें।
  • वशीभूत व्यक्ति कई बार गहरे काले जादू का भी शिकार हो सकता है। इसका प्रभाव और नकारात्मक परिणाम उसके साथ घटित कुछ आकस्मिक अनहोनी से पता लगाया जा सकता है। इसे दूर करने के लिए अमावस्या या पूर्णिमा के दिन घर में और कार्यस्थल पर पवित्र गंगा जल का छिड़काव करें।
  • तांत्रिक सलाहकार या फिर ज्योतिष की सलाह के आधार पर अभिमंत्रित कवच बनवाएं और शुभ दिन में धारण करें। इनसे ने केवल दूसरों की काली नजर से छुटकारा मिल जाता है, बल्कि यह एकतरह से सुरक्षा कवच के तौर पर कार्य करता है।
  • किसी शत्रु द्वारा वशीकरण करवाए जाने से आई परेशानी से बचने के लिए सबसे पहली जरूरत वशीकरण को हटाने की होती है। इसके लिए तांत्रित उपाय के द्वारा बीज मंत्र ‘ह्रीं’ की साधना की जाती है। उसके बाद किसी सादे कागज के टुकड़़ पर केसर से लिख लिया जाता है। मंत्र लिखे टुकड़े की ताबीज बनाकर वशीभूत व्यक्ति को पहनाने से उसके लिए सुरक्षा कवच की तरह काम करता है और उसपर से वशीकरण का प्रभाव खत्म हो जाता है।
  • जिस किसी व्यक्ति पर वशीकरण के प्रयोग करने का संदेह हो उनसे सतर्क रहने की जरूरत है। सतर्कता खाने-पीने की चीजों के संबंध में होनी चाहिए। जैसे वशीकरण करने वाले व्यक्ति अभिमंत्रित खाद्य पदार्थ खिला सकते हैं। इसलिए किसी से खाने की वस्तुएं लेकर झटके में खाने से बचें।
  • यदि आपके घर के आसपास वैदिक अनुष्ठान या टोटके की गई कोई वस्तु दिखे जैसे- नींबू, फल, फूल या कच्च रंगे हुए धागे, लाल कपड़े का टुकड़ा आदि तो उस ओर जरा भी ध्यान नहीं दें। अर्थात उसे लेकर कोई चिंतन-मनन नहीं करें। संभव हो तो उन वस्तुओं को आग के हवाले कर दें तथा फेंकी गई जगह पर पवित्र जल का छिड़काव कर दें।
  • वशीकरण के प्रभाव में आने की आशंका को दूर करने के लिए अपनी जन्मकुंडली का विश्लेषण करवाएं या फिर तांत्रिक से सलाह-मशविरा लेकर कोई उपाय करें। इसके अतिरिक्त मूल मंत्र जीवनशैली के दौरान अभिमान और स्वार्थ की भावना से बचने का भी हो सकता है।
  • रोजमर्रे की जिंदगी में बताए गए धार्मिक रीति-रिवाज को अपना कर चलने से अगर किसी भी प्रकार के अहित वाले वशीकरण से बचा जा सकता है। साथ ही वार के अनुरूप देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना पूरे मनोयोग से करें।
  • वशीभूत व्यक्ति को सूर्य मंत्र का पाठ करने का भर फायदा मिलता है और निम्न मंत्र का 108 बार जाप करने से उनको वशीकरण के प्रभाव से छुटकारा मिल सकता है।

वह मंत्र हैः- ओम नमो भगवते श्रीसूर्याय ह्रीं सहस्त्र-किरणाय एंे अतुल बल पराक्रमाय नवग्रह दिश दिक पाल लक्ष्मी देव वाय, धर्म कर्म सहितायै अमुकनाथय नाथय, मोहय मोहय, आकर्षय आकर्षय , दासनुदासं कुरु कुरु वश कुरु कुरु स्वाहा। इस मंत्र में अमुक शब्द के स्थान पर वशीकरण करने वाले व्यक्ति का नाम लिया जाना चाहिए।

  • रूद्रावतार महाबली हनुमान के मंत्र का जाप करने से भी वशीकरण के प्रभाव को खत्म किया जाता है। श्रीहनुमान के जाप के लिए अचूक मंत्र हैंः-

ओम बलसिद्धिकराय नमः

ओम वज्रकायाय नमः

ओम महावीराय नमः

ओम रक्षोविध्वंसकाराय नमः

ओम सर्वरोगहराय नमः

धार्मिक मान्यता के अनुसार इस मंत्र का जाप शनिवार को हनुमान मंदिर में सुबह स्नान के बाद करना चाहिए। जाप के बाद हनुमान की प्रतिमा पर चमेली का तेल और सिंदूर चढ़ाकर सुगंध, अक्षत, नारियल, अक्षत और कोई एक मिष्ठान अर्पित करना चाहिए। श्री हनुमान के इस मंत्र के जाप का तुरंत असर होता है। इस मंत्र के जाप के बाद हनुमान चालिसा का भी पाठ किया जाना चाहिए।

वशीकरण से छुटकारा पाना वशीकरण से मुक्ति के उपाय और वशीकरण को हटाना है तो आप हमसे कॉल कर सकते है अवश्य आपकी समस्या का हल होगा हमारे एक्सपर्ट गुरु जी के द्वारा |