हत्था जोड़ी से वशीकरण मंत्र

हत्था जोड़ी से वशीकरण मंत्र
4 (80%) 6 votes

हत्था जोड़ी से वशीकरण मंत्र कर अपने प्यार को वश में करे

हत्था जोड़ी का प्रयोग कर अपने प्यार को वश में करे इसके लिए आपके नाम का अनुष्ठान हमारे तांत्रिक गुरु जी द्वारा किया जायेगा| क्योंकि ये एक सिद्ध तांत्रिक गुरु के द्वारा ही सफल की जा सकती है अनयथा इसका बुरा असर भी पड़ सकता है| हत्था जोड़ी से जुड़े वशीकरण मंत्र, जादू-टोटकों व पूजा विधि के बारे मे जानने से पहले जरूरी है की हम आपको ये बताए की हत्था जोड़ी आखिर है क्या!! तो हत्था जोड़ी एक जंगली पौधे की जड़ होती है। जिसका आम तौर पर बहुत से लोग मुकदमा जीतने,  शत्रु पर विजय पाने व घर मे दरिद्रता को दूर करने आदि काम के लिए इस्तेमाल करते है। इसके अलावा भी कई और सामस्यों के निवारण के लिए लोग हत्था जोड़ी का इस्तेमाल करते है। साथ ही माना गया है की ये चामुंडा देवी का प्रतिरूप है और इस वजह से ये जिसके पास भी होता है, उसको इसकी अद्भुत शक्ति का लाभ मिलता है।

हत्था जोड़ी से वशीकरण मंत्र

हत्था जोड़ी से वशीकरण मंत्र

हत्था जोड़ी की पहचान: तो अब हम आपको इस हत्था जोड़ी से जुड़े लाभ के बारे मे बताते है। आज बहुत से लोग धन-लक्ष्मी से जुड़ी समस्या से परेशान है, काफी मेहनत करने के बाद भी धन कमाने व उसको बचाकर रख पाने की समस्या बनी रहती है। जितना धन इंसान कमाता है, वो पूरा खतम हो जाता है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान है की धन रुकता तो नहीं तो आप किसी भी शनिवार या मंगलवार के दिन हत्था जोड़ी को घर लाये और उसे लाल रंग के कपड़े मे बांधकर किसी घर मे कही सुरक्षित जगह रख दे। आपकी धन संबंधी समस्या हल होने लगेगी। धन से संबंधी ही एक और अन्य उपाय ये कर सकते है कि होली के दिन से पहले आप इस हत्था जोड़ी की जड़ को लेकर उसे पानी से साफ करे, फिर पूजा कर लेने के बाद तिल्ली के तेल मे डाल दे। अब 2 हफ्ते बाद उसे निकालकर गायत्री मंत्र से पूजन कर ले और उसे एक चाँदी की डिब्बी मे रख दे। इसके साथ डिब्बी मे तुलसी और इलायची भी रख दे। साथ ही आपको “ॐ किलि किलि स्वाहा” मंत्र का जप भी करना होगा। इससे आप अपने घर मे धन समस्या को दूर कर सकेंगे।

हत्था जोड़ी सिद्ध कैसे करें: एक अन्य मंत्र ये भी है: ज्ञानिनामपि चेतांसि, देवी भगवती ही सा। बलादाकृष्य मोहाय, महामाया प्रयच्छति ध्यान दे की इस मंत्र साधना विधि का प्रयोग आप दुर्गा सप्तशती के दिन करे। आप 11,250 बार बताए मंत्र का जप करे, जिसका प्रभाव आप खुद देख सकेंगे। साधना के दौरान आप लाल रंग का प्रयोग ही करे। हत्था जोड़ी से जुड़ी इस साधना से पहले आप देवी भगवती त्रिपुर सुन्दरी माता का सच्चे मन से ध्यान करें। इसके बाद पूरी श्रृद्धा भाव से पंचोपचार से पूजा कर देवी मां के सामने अपनी मनोकामना रखे।
बहुत से लोग ऐसे होते है जिनहे नहीं पता होता की हत्था जोड़ी को कैसे सिद्ध किया जाये। तो इसके लिए एक विधि ये है कि आप महाशिवरात्रि या फिर होली दहन की रात से पहले पूर्व दिशा की ओर अपना चेहरा करके, एक लाल रंग के आसन पर बैठे और फिर सामने एक चौकी पर भी लाल रंग का ही वस्त्र बिछा दे और अब उसके ऊपर 250  ग्राम अक्षत की ढेरी बना दे, फिर उसी के ऊपर चाँदी की डिब्बी और हत्था जोड़ी रख दे साथ ही माँ लक्ष्मी का फोटो या प्रतिमा भी रख दे। इसके साथ आप ताम्र लोटे में जल भरकर वही पास में रख दे। इसके उपरांत आप गणेश  गुरु पूजन कर ले और बाद मे उस हत्था जोड़ी कि गंध, अक्षत व लाल पुष्प से पूजा करले। इन सबके बाद आप बताए गए मंत्र का लाल चन्दन की माला से एक माला जप करे मंत्र।

हत्था जोड़ी वशीकरण मंत्र : “हत्थाजोड़ी अति महिमाधरी कामणगारी , खरी प्यारी , राज-प्रजा सब मोहनगारी सेवतफल पावे सब नरनारी , केसर कर्पूर से करू मैं पूजा, दुश्मन के बल को तू दे बुझा , मनइश्चित मांगू जो देवे , कहना कथन ही मेरा रखे , हत्थाजोड़ी मातु दुहाई , रखजे मेरी बात सवाई , मेरी भक्ति गुरु की शक्ति फुरो मंत्र ईश्वर वाचा ”।

हत्था जोड़ी तंत्र/मंत्र/प्रयोग/पूजा विधि: जप हो जाये तब माँ लक्ष्मी की आरती करे और प्रसाद खा ले। ध्यान दे की दीपक के ठंडा होने के बाद आप पुष्प, केसर और लौंग के साथ डिबिया को एक लाल वस्त्र मे बाँधकर घर मे किसी सुरक्षित जगह रख दे। आखिरी मे आप लाल वस्त्र के साथ अक्षत को उठा ले, जिसे चौकी पर बिछाया था। ब्राह्मण को दान देना न भूले। इस प्रकार आप हत्था जोड़ी अभिमंत्रित करके सिद्ध कर सकेंगे।

ऊपर तो हमने आपको इस हत्था जोड़ी से जुड़े कुछ तंत्र-मंत्र साधना विधि बताई, पर क्या आप जानते है की हत्थाजोडी का चूर्ण पीलिया जैसी बीमारी मे काफी मददगार होता है। इसके चूर्ण को शहद के साथ मिलकर रोगी को चटाना चाहिए और फिर उसे छाडेर से ओढ़ा  देना चाहिए जिससे की उस पीलिया के रोगी को पसीना आए। पसीना आने के बाद तौलिया से उसे साफ़ कर दे। आप देखेंगे की किस तरह फिर वो रोगी ठीक हो जाता है। यही नहीं अगर आप हत्था जोडी को सिन्दूर के साथ लगाकर अपने दाहिने हाथ पर बांधते है तो आप किसी को भी अपने वश मे कर सकते है।

तो देखा आप किस तरह ये हत्था जोड़ी आपके कितना काम आती है। ये होती एक वनस्पति है पर सकबो इसके बारे मे नहीं पता होता। बता दे की एक खास तरह के पौधे की जड़  खोदने से ये हत्था जोड़ी उसमे से मिलती है, जोकि मानव भुजा जैसी 2 शाखाओ मे दिखाई पड़ती है। ये देखने मे ऐसा लगता है जैसे किसी इंसान की मुट्ठी बंद है। तो अगर ये आपके पास है तो यकीनन आप ऊपर बताए उपायों को अपनाकर लाभ प्राप्त कर सकते हो और अपने जीवन मे  आने वाली अनेक परेशानियों को दूर करके एक सुखी जीवन बना सकते हो।

हत्था जोड़ी का प्रयोग तंत्र क्रियाओ में बहुत होता है इससे किसी पर भी वशीकरण मंत्र किया जा सकता है और हत्था जोड़ी की पहचान/सिद्ध/तंत्र/मंत्र/प्रयोग/पूजा विधि से सब संभव हो जाता है | यदि हत्था जोड़ी का प्रयोग कर किसी को वशीभूत करना चाहते हो तो हमारे एक्सपर्ट तांत्रिक गुरु जी परामर्श करे और किसी भी समस्या का समाधान पाए |